What is mutual fund in hindi

1
86
What is mutual fund in hindi
What is mutual fund in hindi

What is mutual fund in hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम  What is mutual fund in hindi बारे में विस्तार से समझने वाले हैं और जानने वाले हैं। बहुत सारे लोग होते हैं जो शेयर मार्केट के बारे में थोड़ा बहुत भी मालूम नहीं नही होता है और उन्हें म्यूच्यूअल फंड का भी थोड़ा भी ज्ञान नहीं होता है इसलिए और वह म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते हैं मगर उनको मालूम ही नहीं चलता कि म्यूच्यूअल फंड क्या है कैसे काम करते हैं और इसमें कितने प्रकार होते हैं।

तो हमने आपके इस समस्याओं को हल करने के लिए इस पोस्ट को लिखा है इस पोस्ट में हमने म्युचुअल फंड के बारे में संपूर्ण जानकारी दिया है और सरल से सरल भाषा में समझाने की कोशिश की है और नेचुरल फंड के प्रकार और हमें म्युचुअल फंड में क्यों निवेश करना चाहिए इन सभी के बारे में भी हमने विचार विमर्श किया है। म्यूच्यूअल फंड के बारे में संपूर्ण जानकारी के लिए कृपया आप हमारे पोस्ट को पूरे ध्यान से अंत तक पढ़े तभी आप म्यूच्यूअल फंड के बारे में विस्तार से जान पाएगा तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं म्यूचुअल फंड के बारे में

म्यूचुअल फंड क्या है ?

दोस्तो क्या आप जानते है कि म्यूचुअल फंड एक निवेश जरिया सरल भाषा मे बोले तो वो  माध्यम है जहां कई निवेशक एक किसी तरह के अवधि में अपनी ढेर सारे पूंजी पर  काफी ज्यादा रिटर्न अर्जित करने के लिए अपना पैसा को एक जगह जमा करते हैं। आपको सायद ही मालूम होगा कि फंड के इस कोष का बेहतरीन प्रबंधन एक अच्छे निवेश पेशेवर के द्वारा ही इसे किया जाता है।

 जिसे आमतौर पर  फंड मैनेजर या पोर्टफोलियो मैनेजर के नाम से भी ढेर सारे लोग जाना जाता है। किसी तरह का बॉन्ड, स्टॉक, सोना, रेल्स्टेट और अन्य परिसंपत्तियों जैसे अलग अलग प्रतिभूतियों में कोष का अधिक निवेश करना और उस निवेश का संभावित रिटर्न प्रदान करना उसका काम है। निवेश पर होने वाले किसी तरह का लाभ (या हानि) को निवेशकों  के द्वारा  फंड में उनके सभी योगदान के अनुपात में सामूहिक रूप से बेहतरीन ढंग से उनमें साझा किया जाता है।

Beginner Stock Buying Guide!

हमे Mutual Fund में निवेश क्यों करना चाहिए।

दोस्तो आपको पता ही होगा कि म्यूचुअल फंड में निवेश के कई सारे बेहतरीन फायदे हैं। यहां  आपके लिए हमने कुछ महत्वपूर्ण बातें दी हैं आप इन बातों पे गौर फरमाए और ध्यान से बात समझने की कोसिस करे कि हमे म्यूचुअल फंड में निवेश क्यों करना चाहिए – गयस क्या आप जानते है कि व्यावसायिक विशेषज्ञता एक ऐसी स्थिति पर विचार करें जहां आप मैन ले कि आपने  एक नई बाइक या स्कार्पियों खरीदते हैं। लेकिन यहाँ पकड़ वो भी है यह है कि आप ड्राइव करना बिलकुल नहीं जानते है। अब, आपके पास मेरे हिसाब से दो विकल्प हैं: 

  • जिसमे से पहला यह है कि आप ड्राइव करना सीख सकते हैं 
  • और दूसरी विकल्प आपके पास यह है कि आप एक पूर्णकालिक किसी अच्छे ड्राइवर को काम पे रख सकते हैं दोस्तो गौर फरमाए की पहले परिदृश्य में, आपको एक अच्छे ड्राइविंग का सबक लेना होगा, और उसके बाद एक बेहतरीन ड्राइविंग टेस्ट पास करना होगा और और स्कार्पियो चलाने के लिए लाइसेंस  को भी प्राप्त करना होगा। लेकिन अगर आपके पास ड्राइविंग सीखने और चलने के लिए अगर आपके पास ज्यादा समय नहीं है, तो आप एक बेहतर ड्राइवर को चुनना ही ठीक समझेंगे। 

जैसे हमने कार के बारे में समझ उसी तरह से निवेश के मामले में भी ऐसा ही है। आपको तो पता होगा कि वित्तीय बाजारों में किसी तरह का निवेश करने के लिए एक अच्छी और निश्चित मात्रा में कौशल  और थोड़ी बहुत एक्सपेरिंएस की आवश्यकता होती है। आपको इन सभी बाजार पर काफी शोध करने और उपलब्ध सर्वोत्तम में सर उच्च विकल्पों का विश्लेषण करने की बहुत काफी आवश्यकता है। आपको इन सभी मे से एसेट क्लास के नजरिए से सेक्टर्स, मैक्रो इकोनॉमी, और कंपनी फाइनेंशियल जैसे ढेर सारे मामलों पर बिचार विमर्श करने के लिए काफी ज्ञान की आवश्यकता है। इसके लिए आपसे काफी समय और  प्रतिबद्धता की ढेर सारी आवश्यकता होती है। 

लेकिन मेरे दोस्तो  अगर आपके पास बाजार में बारे में गहराई तक जाने का कौशल या समय और नही किसी तरह का ज्ञान नहीं है, तो म्यूचुअल फंड में निवेश आपके लिए एक बहुत बेहतरीन विकल्प हो सकता है। हमने आपको ऊपर बताया है कि पर यहां, एक अच्छे पेशेवर फंड मैनेजर आपके निवेश का ख्याल बहुत ही बेहतरीन तरीकों से रखता है और उचित रिटर्न प्रदान करने के लिए वह काफी कड़ी मेहनत करता है। और  जिस तरह  मैंने आपको ऊपर बताया कि आप ड्राइवर को उसकी चालक सेवाओं और उसके मेहनत के लिए जो कुछ भी भुगतान करेंगे, आपको यहाँ पे अपने म्यूचुअल फंड निवेश के अच्छे पेशेवर प्रबंधन के लिए विशिष्ट शुल्क का उनको भुगतान करना होगा और म्यूचुअल फंड में पैसा डूबने का बहुत कम खतरा रहता है।

Intraday trading in hindi

अच्छे रिटर्न पाने के लिए हमे म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए ।

दोस्तो जबरदस्त रिटर्न सबसे बड़े म्यूचुअल फंड के लाभों में से एक यह है कि आपके पास यहां पर सुनिश्चित रूप से रिटर्न की पेशकश करने वाले सभी पारंपरिक निवेश के अलग अलग विकल्पों की तुलना में संभावित और असंभावित रूप से  काफी अधिक रिटर्न अर्जित करने का  आपके पास अवसर है। ऐसा इसलिए है  गाइस क्योंकि म्यूचुअल फंड पर रिटर्न बाजार के बहुत अद्धिक प्रदर्शन से जुड़ा होता है।

 इसलिए, दोस्तो यदि बाजार में बहुत काफी तेजी है तो और यह  आपके लिए बहुत अच्छा प्रदर्शन करता है, तो इसका साफ साफ प्रभाव आपके फंड के मूल्य में दिखाई देगा। हालांकि, इस तरह के बाजार में काफी खराब प्रदर्शन भी आपके द्वारा की गईं निवेश को नकारात्मक रूप से आराम से प्रभावित कर सकता है। 

और यह पर पारंपरिक निवेशों के बिलकुल उसके विपरीत, म्युचुअल फंड पूंजी संरक्षण का किसी तरह का आश्वास नहीं देते हैं। इसलिए अपना शोध खुद करें और ऐसे ऐसे अच्छे फंडों में निवेश करें जो आपके आगे के  जीवन में काफी सही समय पर आपके वित्तीय लक्ष्यों को आसानी से पूरा करने में आपकी ढेर सारी मदद कर सकें।

विविधीकरण के कारण हमे म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए।

दोस्तो आपने पुराने जवान की यह एक कहावत तो  जरूर सुनी होगी की : अपने सभी आलू को एक ही टोकरी में न रखें। जब आप अपना पैसा कसी चीज़ में निवेश करते हैं तो आप यह जरूर याद रखे कि  यह एक बहुत प्रसिद्ध मंत्र है। क्योंकि दोस्तो जब आप केवल  अपनी एक ही संपत्ति में  अच्छे से निवेश करते हैं, तो बाजार में किसी भी तरह का गिरावट आने पर आपको बहुत ज़्यादा नुकसान का जोखिम उठा सकते हैं। 

हालांकि, हम मानते है कि आप एक विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों में  अच्छे तरह से निवेश करके और अपने पोर्टफोलियो और फन्ड मैनेजर में विविधता लाकर इस जम्भीर समस्या से बहुत आसानी से बच सकते हैं। यदि आप अपने सभी शेयरों में निवेश कर रहे थे और किसी तरह का विविधता लाना चाहते थे, तो आपको कई सारे अलग अलग क्षेत्रों से कम से कम दस से एगारह शेयरों का अच्छे से चयन सावधानी से करना होगा। 

यह आपके लिए एक बहुत लंबी, समय लेने वाली प्रक्रिया भी हो सकती है। लेकिन जब आप म्यूचुअल फंड में किसी तरह का  निवेश करते हैं, तो आप इसके बारे में  तुरंत  अच्छे विविधीकरण हासिल कर लेते हैं। हमने आपको समझाने के लिए उदाहरण दिया है, यदि आप BSI  सेंसेक्स को पूरी तरह से  ट्रैक करने वाले म्यूचुअल फंड में अपना  निवेश करते हैं, तो गाइस आपको एक ही फंड में लगभग सभी क्षेत्रों में 30 शेयरों के लमसम तक पहुंच प्राप्त करनी होगी। यह आपके काफी सारे जोखिम को काफी हद तक आसानी से कम कर सकता है।

Fundamental vs Technical Analysis of Stocks

कर लाभ के कारण हमे म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए।

गाइस क्या आपको पता है की आप म्युचुअल फंड निवेशक के ढेर सारे रुपये तक की कर कटौती का दावा आसानी से कर सकते हैं। इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम जैसे  (ELSS) में लगभग आप इस निवेश करके 1.5 लाख तक पा सकते है। और यह कर लाभ आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत  यह काफी अच्छा योग्य है। 

ELSS फंड लगभग 3 साल की लॉक-इन अवधि के साथ आते या कह सकते है कि यह इसी तरह से कम करते  हैं। इसलिए, यदि आप ELSS फंड में अपना  निवेश करते हैं, इस स्कीम में तो आप लॉक-इन अवधि पूरे तरह से  समाप्त होने के बाद ही इस मे से अपना पैसा निकाल सकते हैं। दोस्तो एक और टैक्स बेनिफिट डेट फंड्स पर उपलब्ध इंडेक्सेशन बेनिफिट भी है। 

यह आपके कई पारंपरिक उत्पादों के मामले में, काफी अर्जित सभी ब्याज कर के अधीन ही होता हैं। हालांकि, आपको मालूम होगा कि डेट म्यूचुअल फंड के मामले में,जैसे केवल इस तरह का मुद्रास्फीति दर (लागत मुद्रास्फीति सूचकांक जैसे {CII} में एम्बेडेड) के ऊपर और काफी ऊपर अर्जित और बहुत अच्छा रिटर्न कर के  यह अधीन भी हैं। इससे निवेशकों को कर के बाद बहुत उच्च रिटर्न अर्जित करने  आपको में काफी मदद  मिल सकती है। कर टेक्स के लिए भी आप म्यूचुअल फंड में निवेश आराम से बिना किसी चिंता का कर सकते है।

शेयर बाजार क्या है?

म्यूच्यूअल फण्ड कितने प्रकार के होते हैं

आआमतौर पे इसका कोई खास प्रकार नही होता है ।दोस्तो मैं आपको उदाहरण दे कर के समझाने की कोसिस कर रहा हु की जब आप किसी कार या बाइक के शोरूम में अगर प्रवेश करते हैं, तो आपको बहुत सारी अलग-अलग कारें बाइक्स दिखाई देती हैं। हैचबैक, सेडान, एसयूवी, हीरो,हौंडा,पल्सर,आपची, और शायद स्पोर्ट्स कार और बाइक्स भी हैं। शोरूम में प्रत्येक कार एक अलग अलग उद्देश्य को पूरा करती है। 

एक साहसी व्यक्ति अपनी लिए एक स्पोर्ट्स कार पसंद कर सकता है, जबकि बच्चों और फैमिली के लिए (और एक पालतू जानवर) के साथ एक पारिवारिक व्यक्ति के लिए आप एक एसयूवी कार का विकल्प चुन सकता है और आप कॉलेज के क्षात्रों में से एक है तो आपको स्पोर्ट्स बाइक्स में जयदा इंटरेस्ट होगा । गाइस ठीक उसी तरह से हमारे भारत में भी कई सारे अलग अलग  विभिन्न प्रकार के म्यूच्यूअल फण्ड हैं। प्रत्येक फंड का  प्रकार और उनका लक्ष्य विशिष्ट लक्ष्यों को  अच्छे से प्राप्त करना है। यहां सबसे लोकप्रिय प्रकार के म्युचुअल फंड हैं जो आप पा सकते और उसमें आपके आप सक्षम भी है अपने हिसाब से पैसा निवेश कर सकते हैं।

एसेट क्लास के आधार पर फंड के प्रकार: – 

डेट फंड्स 

गाइस क्या आप डेट फंड के बारे में जानते है  (जिसे आम भाषा मे फिक्स्ड इनकम फंड भी कहा जाता है) किसी भी सरकारी प्रतिभूतियों और कॉरपोरेट  बॉन्ड जैसी किसी भी संपत्तियों में अगर आप निवेश करते हैं। तो इन फंडों का उद्देश्य साफ साफ निवेशक को उचित रूप से अच्छे रिटर्न देना होता है और उसे अपेक्षाकृत  इसे कम से कम जोखिम भरा निवेश भी माना जाता है। दोस्तो  यदि आप किसी तरह का एक स्थिर आय का लक्ष्य रखते हैं और लगभग सभी जोखिम से बचते हैं तो ये फंड आपके लिए आदर्श हैं। 

इक्विटी फंड 

दोस्तो यह फंड डेट फंड के बिलकुल विपरीत, काम करता है  इक्विटी फंड में आपके पैसे को आमतौर पर शेयरों में निवेश करते हैं। पर इन फंडों के लिए पूंजी में वृद्धि एक बहुत महत्वपूर्ण उद्देश्य होता है। लेकिन आमतौर पर इक्विटी फंडों पर रिटर्न शेयरों के बाजार के काफी ज्यादा उतार-चढ़ाव से जुड़ा होता है, गाइस इसलिए इस तरह के सभी फंडों में जोखिम का स्तर काफी अधिक होता है। दोस्तो  यदि आप काजी लंबी अवधि के लक्ष्यों जैसे सेवानिवृत्ति योजना या घर खरीदने या रैलस्टेट के लिए आप निवेश करना चाहते हैं तो ये मेरे हिसाब से बहुत  अच्छा विकल्प हैं क्योंकि समय के साथ जोखिम का स्तर काफी धीरे धीरे कम हो जाता है। 

हाइब्रिड फंड 

और तीसरा है हाइब्रिड फंड  गाइस क्या होगा अगर आप अपने लगभग सभी निवेश में इक्विटी के साथ ही साथ डेट भी चाहते हैं, तो  आपके लिए इन सभी चीज़ों का जवाब हाइब्रिड फंड हैं। हाइब्रिड फंड इक्विटी और फिक्स्ड इनकम जैसे सिक्योरिटीज दोनों के लगभग मिश्रण में निवेश करते हैं। इक्विटी और डेट जैसे (एसेट एलोकेशन) के बीच  अच्छे आवंटन के आधार पर, आपका हाइब्रिड फंडों को आगे विभिन्न विभिन्न उप-श्रेणियों में  अच्छे से इन सभी को वर्गीकृत किया जाता है।

संरचना के आधार पर म्यूचुअल फंड के सभी प्रकार: 

  • (1). दोस्तो पहले नम्बर पे होता है ओपन-एंडेड म्यूचुअल फंड ओपन-एंडेड फंड म्यूचुअल फंड भी होते हैं, जहां पर कोई निवेशक किसी भी तरह का कारोबारी दिन में अपने हिसाब से आराम से निवेश कर सकता है। इस तरह के फंडों को उनके नेट एसेट वैल्यू सरल भाषा मे बोले तो उनका स्थाई मूल्य (NAV) पर खरीदा और इनको बेचा जाता है। और ये इसी लिए ओपन-एंडेड फंड अत्यधिक तरल होते हैं क्योंकि आप अपनी सुविधानुसार  अपने हिसाब से आप किसी भी व्यावसायिक दिन पर फंड से अपनी इकाइयों को आराम से भुना सकते हैं।
  • (2).और गाइस दूसरे नम्बर पे  क्लोज-एंडेड म्यूचुअल फंड क्लोज-एंडेड फंड आता है यह एक पूर्व-निर्धारित परिपक्वता काफी अवधि के साथ यह आते हैं। निवेशक के फंड केतुरंत लॉन्च होने पर ही उसमें आप आसानी से निवेश कर सकते हैं और इनके मैच्योरिटी के समय ही फंड से अपना पैसा तुरंत निकाल सकते हैं। ये फंड  लगभग पूरी तरह से शेयर बाजार में शेयरों की तरह ही सूचीबद्ध होते हैं। हालांकि, वे काफी बहुत तरल नहीं हैं क्योंकि ट्रेडिंग वॉल्यूम  इनका काफी बहुत कम हैं।

लोन के प्रकार | Types of loan in hindi

निवेश के उद्देश्य के आधार पर म्यूचुअल फंड के प्रकार:

गाइस आप म्यूचुअल फंड को निवेश के उद्देश्यों के आधार पर भी इनको आराम से बंटा जा सकता है। 

ग्रोथ फंड 

दोस्तो आप क्या आप जानते है कि ग्रोथ फंड्स  का मुख्य उद्देश्य कैपिटल एप्रिसिएशन होता है। इस तरह के फंड पैसे का एक कफ बड़ा हिस्सा किसी चीज़ का शेयरों में लगाते हैं। इक्विटी में जैसे अधिक निवेश के कारण ये फंड आपको अपेक्षाकृत काफी अधिक जोखिम से भी भरे हो सकते हैं और इसलिए इनमें आमतौर पर लंबी अवधि के लिए निवेश करना ही सबसे  अच्छा माना जाता है। लेकिन अगर आप अपने लक्ष्य के कुछ ज्यादा ही करीब हैं, तो उदाहरण के लिए, आप इस तरह से फंडों से मेरे हिसाब से बचना चाह सकते हैं।

आय फंड 

गाइस जैसा कि इसमे नाम से ही काफी पता चलता है, इनकम फंड निवेशकों को एक गजह पर स्थिर आय प्रदान करने का बहुत अद्धिक प्रयास करते हैं। ये डेट फंड हैं के जैसा ही है जो आमतौर पर  ज्यादातर बॉन्ड, सरकारी प्रतिभूतियों और जमा प्रमाणपत्र आदि जैसे कई सारे  में निवेश करते हैं। वे अलग-अलग प्रकार के अवधि के लक्ष्यों के लिए और बहुत कम जोखिम वाले निवेशकों के लिए ही यह उपयुक्त हैं। 

लिक्विड फंड 

अब बात आता है लिक्विड फंड पे यह अल्पकालिक मुद्रा बाजार के सबसे अच्छे साधनों जैसे ट्रेजरी बिल, टर्म डिपॉजिट, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट (CD),  कमर्शियल पेपर आदि जैसे बहुत सारे में पैसा लगाते हैं। लिक्विड फंड आपके सरप्लस पे पैसे को कुछ दिनों से लेकर कुछ महीनों  यहाँ तक कि कुछ सालों के लिए पार्क करने या एक इमरजेंसी फंड बनाने में  बहुत ज़्यादा मदद करते हैं। 

टैक्स सेविंग फंड

अब लास्ट में बच जाता है टैक्स सेविंग फंड जो आपको आयकर के ढेर सारे अधिनियम की धारा जैसे लगभग  80 C के तहत आपको अच्छे खासे कर लाभ प्रदान करते हैं। जब आप इस तरह के फंडों में काफी अद्धिक निवेश करते हैं, तो आप हर साल लगभग 1.5 लाख रुपये तक की कटौती का दावा इनके सामने कर सकते हैं। इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम जैसे (ELSS) टैक्स, सेविंग फंड का ही  एक तरह का उदाहरण है।

ProStocks Review

      [ Conclusion,निष्कर्ष ]

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख What is mutual fund in hindi आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से वह सारी चीजों के बारे में विस्तार से जान चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे। हमने इस लेख में एक सरल से सरल भाषा में और आपको आसान से समझाने की कोशिश की है कि म्यूचुअल फंड क्या है और मुझे आपसे उम्मीद है कि आप पूरे अच्छे से जान चुके होंगे कि म्यूच्यूअल फंड क्या है और इसके बारे में संपूर्ण जानकारी ले चुके होंगे।अगर हमारे पोस्ट को पढ़ने में कहीं भी कोई भी दिक्कत हुई होगी या किसी भी तरह की परेशानी हुई होगी तो आप हमारे नीचे कमेंट सेक्शन में बेझिझक कोई भी मैसेज कर के हम से सवाल पूछ सकते हैं हमारी समूह आपकी सवाल का उत्तर देने की कोसिस पूरी तरह से करेगी।

Sharekhan Review

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here